what is pcos in hindi

What is PCOS in Hindi – जाने अंडाशय की इस बीमारी के बारे में सब कुछ

What is PCOS in Hindi?

PCOS का फुल फॉर्म है Polycystic Ovary Syndrome जो कि अंडाशय की एक बीमारी है. इसमें लड़की या औरत के अंडाशय (Ovary) में पुटी यानी छोटे-छोटे मस्से से बन जाते है जिससे पीरियड्स आने या तो बंद हो जाते है या फिर बहुत कम हो जाते है. इसमें लड़की का हार्मोनल बैलेंस बिगड़ जाता है. आजकल ये बीमारी बहुत तेज़ी से फ़ैल रही है और दुनिया में हर 15 लड़कियों में से 1 लड़की को होती है.

क्या है PCOS के लक्षण या कैसे पता करे कि PCOS है या नहीं?

PCOS के कुछ लक्षण है जैसे कि:

  • पीरियड न होना, बहुत कम पीरियड होना या बहुत ज्यादा पीरियड्स आना
  • योनी के ऊपर या आस पास दर्द होना
  • चेहरे या शरीर के कुछ हिस्सों पर मर्दों के जैसे बाल आ जाना
  • खारिश होना
  • वजन बड जाना और वज़न कम करने में बहुत मुश्किलें आनाwhat is pcos in hindi
  • शरीर पर अजीब से दाग धब्बे हो जाना

अगर आपको ऊपर दिए गए लक्षणों में से कोई चार है तो PCOS की सम्भावना हो सकती है. ऐसे में तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह ले.

कैसे होता है PCOS?

अभी तक PCOS की बीमारी का मुख्य कारण पता नहीं चल पाया है लेकिन विशेषज्ञ मानते है कि PCOS मुख्यता होरमोंस की वजह से होता है. इस बीमारी से शरीर में इन्सुलिन (जो खाने को उर्जा में बदलता है) बहुत ज्यादा बढ़ जाता है जिससे शरीर पर काले या गहरे धब्बे पड़ जाते है. इस बीमारी में लड़कियों के शरीर में androgen नाम का होरमोन बहुत अधिक बढ़ जाता है. Androgen एक मेल होरमोन है जो कि सिर्फ मर्दों में होता है लेकिन PCOS की वजह से ये होरमोन लड़की में हो सकता है जिससे कि शरीर पर मर्दों की तरह घने बाल हो जाते है.

PCOS के लिए टेस्ट या डॉक्टर कैसे पता करता है इस बीमारी के बारे में?

अगर आपको ज़रा सा भी शक है कि प्कोस हो सकता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे. डॉक्टर आपको कुछ सवाल पूछेगा जैसे कि आपके पीरियड्स के बारे में, परिवार में किसी को PCOS है या नहीं, आपके गुप्तांगो का टेस्ट करेगा और खासकर अंडाशय का. इसमें डॉक्टर खून की जांच, शुगर की और होरमोन लेवल की जांच भी करते है. इन सभी टेस्ट के ज़रिये PCOS की बीमारी का पता चल जाता है.

क्या PCOS से गर्भ्वात नहीं हो सकता?

अगर किसी को PCOS है और उसका इलाज नहीं करवाया तो गर्भ्वात नहीं हो सकता लेकिन इसमें घबराने की बात नहीं क्यूंकि ट्रीटमेंट के ज़रिये औरत गर्भवती हो सकती है. PCOS के ट्रीटमेंट में इन्सुलिन को कम करने के लिए दवा दी जाती है और पीरियड्स आने की भी दवाई दी जाती है ताकि लड़की का पीरियड साइकिल नार्मल चलता रहे.

क्या PCOS की वजह से दूसरी बीमारियाँ भी हो सकती है?

अगर किसी को PCOS है तो उन्हें डायबिटीज, उच्च रक्तचाप और हाई कोलेस्ट्रॉल जैसी बीमारियाँ होने की सम्भावना बढ़ जाती है. अगर इसका सही वक़्त पर ट्रीटमेंट ना हो तो कोई गंभीर समस्या जैसे ओवरी (अंडाशय) का कैंसर भी हो सकता है.

क्या है PCOS का ट्रीटमेंट?     

PCOS पूरी तरह से ठीक तो नहो सकता लेकिन इसके ट्रीटमेंट से लक्षणों को कम अवश्य किया जा सकता है. PCOS में लड़की को थोडा एक्टिव लाइफस्टाइल की आदत डाल लेनी चाहिए खान-पान अच्छा रखे और अगर वजन ज्यादा है तो कम ज़रूर करे, इससे PCOS के लक्षण कम करने में बहुत मदद मिलती है.

PCOS के ट्रीटमेंट के लिए सबसे आम दवा है गर्भ निरोधक दवाईया. इन दवाईयों में होरमोन होता है जो कि PCOS की वजह से हुआ हार्मोनल इम्बलांस को ठीक करता है. ये गोलियां शरीर में androgen (male hormone) को कम करती है जिससे दाग धब्बे और शरीर पर ज्यादा बाल नहीं आते. ये गोलियां पीरियड्स करवाने के लिए भी बहुत लाभदायक होती है.

loading...