हार्ट अटैक के इन लक्षणों को ना करें अनदेखा – कुछ इस तरह करें बचाव

आजकल की भागदौड़ भरी ज़िंदगी में कई लोग ऐसे होते हैं जो अपनी सेहत को अनदेखा कर देते हैं जिस कारण उन्हें आगे चलकर काफी सारी शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। काम का बढ़ता बोझ, बढ़ती ज़िम्मेदारियां आपको कई ऐसी बातों को नज़रअंदाज़ करने पर मजबूर कर देता है जिससे आपकी सेहत काफी प्रभावित होती है। यही कारण है जो दुनियाभर में हार्ट की बीमारी दिन-ब-दिन बढ़ती ही जाती है, जिनमें सबसे ज्यादा सामने आते हैं हार्ट अटैक के मामले। हार्ट अटैक यानी दिल का दौरा एक ऐसी बीमारी है जिसने ना जाने कितने लोगों को जान ली है।

बदलते लाइफस्टाइल के साथ-साथ चिंता, तनाव, गलत खानपान के कारण कई लोगों ने इस बीमारी की वजह से अपनी जान गंवाई है। इस लिस्ट में ना सिर्फ उम्रदराज लोग बल्कि कई युवा भी शामिल हैं। एक शोध के मुताबिक, छोटी-छोटी समस्याओं के कारण भी हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। यह खतरा ज्यादातर सर्दियों में ज्यादा बढ़ता पाया गया है।

यही कारण है कि ऐसे में आपको हार्ट अटैक के लक्षण को बेहद बारीकी से जानने की आवश्यकता होती है ताकि समय रहते आप हार्ट अटैक से बचने के उपाय को अच्छी तरह समझ सकें।

तो सबसे पहले जानते हैं क्या हैं हार्ट अटैक के लक्षण:  

  • सीने में तेज दर्द होना
  • शुरुआत में उल्टी आना
  • सांस फूलना
  • चक्कर आना
  • अशांत मन और बेचैनी
  • थकान होना
  • कोल्ड स्वेट होना

लेकिन इस बात का भी ध्यान रखना है कि हर किसी के लिए हार्ट अटैक के लक्षण सामान नहीं होते हैं। हो सकता है कि कुछ लोगों को दर्द का अहसास कम ही हो। खासतौर पर महिलाओं को, बुज़ुर्गों को और मधुमेह पीड़ित व्यक्ति को इस दर्द का अहसास नहीं हो पाता। इस तरह के मरीजों में हार्ट अटैक के लक्षण देखने को नहीं मिलते, उन्हें साइलेंट हार्ट अटैक पड़ता है। तो ऐसे में आपको काफी सतर्क रहने की ज़रूरत है।

अब आइए नज़र डालते हैं हार्ट अटैक के कारण पर:

  • मोटापा
  • जेनेटिक प्रॉब्लम
  • हाई ब्लड प्रैशर
  • शुगर
  • हाई कोलेस्ट्रॉल

नशीले पदार्थों का ज्यादा सेवन

तो ये सब थे हार्ट अटैक के लक्षण और हार्ट अटैक के कारण। अब नज़र डालते हैं हार्ट अटैक के उपचार पर। जानिए किस तरह आप हार्ट अटैक से खुद को बचा सकते हैं-

परहेज़ है ज़रूरी

हर मर्ज़ की सबसे पहली दवा होती है परहेज़। कुछ परहेज़ करने से मरीज़ की हालत को काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। इसमें धूम्रपान करने से बचना चाहिए। इसके अलावा तला हुआ खाना बिल्कुल नहीं खाना चाहिए। वहीं सॉफ्ट ड्रिंक से दूरी, खानपान में ज्यादा नमक नहीं लेना चाहिए।

लौकी के जूस का करें सेवन

लौकी ऐसी सब्ज़ी है जो आपको ना सिर्फ पोषण देती है बल्कि कई तरह की बीमारियों से बचाती भी है। लौकी की सब्जी या जूस का रोजाना सेवन आपको हार्ट अटैक के खतरे से बचाता है। इसके अलावा अगर आप इसे कच्चा खाते हैं तो दिल की कई तरह की बीमारियां आपसे दूर रहती हैं।

व्यायाम करें

आपको बता दें कि जिन लोगों में मोटापा ज्यादा पाया जाता है उन्हें हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा बना रहता है क्योंकि उनमें कोलेस्ट्रोल काफी बढ़ चुका होता है। इसलिए ऐसे लोगों को हमेशा व्यायाम करना चाहिए। व्यायाम आपको तनाव से दूर रखता है और आपका मन शांत रखता है और मोटापा भी कम होता है जिस कारण आपको हार्ट अटैक आने का खतरा काफी कम हो जाता है।

समय समय पर कराएं जांच

जिन लोगों को दिल से संबंधित बीमारी पहले से ही है वो किसी खतरे के आने का इंतज़ार ना करें। आप हमेशा समय-समय पर अपने डॉक्टर से स्वास्थ्य जांच कराते रहें और सही परहेज़ के साथ चलकर एक स्वस्थ्य जीवन बिता पाएं।

loading...