जाने डिप्रेशन के लक्षण इन हिंदी – अगर ये लक्षण है तो हो जाईये सतर्क!

डिप्रेशन के लक्षण क्या है ये हर किसी को पता होने बहुत ज़रूरी है क्यूंकि ये बीमारी आज के मॉडर्न युग में बहुत तेज़ी से फ़ैल रही है. डिप्रेशन से छुटकारा पाना ज्यादा मुश्किल नहीं अगर समय पर किसी विशेषज्ञ को दिखाया जाए. आईये जानते है डिप्रेशन के बारे में कुछ बाते.

डिप्रेशन क्या है या डिप्रेशन क्या होता है?

कई लोग ज़िन्दगी में किसी न किसी मोड़ पर दुखी या निराश महसूस करते हैं. ये एक सामान्य प्रतिक्रिया है जीवन के संघर्षों या किसी को खोने पर लेकिन जब ऐसी स्थिति में कोई व्यक्ति बहुत ज्यादा दुःखी, असहाय, निराश और खुद को बेकार समझने लगे और ये सिलसिला कई हफ्ते, महीनो या सालो चलता रहे तो ये कोई सामान्य दुःख नहीं बल्कि डिप्रेशन होता है. डिप्रेशन पूरी तरह से ठीक हो सकता है और यदि आपको या आपके किसी परिजन को डिप्रेशन के लक्षण दिखते है तो उसे फ़ौरन किसी अच्छे साइकियाट्रिक (Psychiatric) के पास ज़रूर लेकर जाये.डिप्रेशन के लक्षण

तो आईये देखते है क्या है डिप्रेशन के लक्षण!

  • उदास, बहुत दुखी, या चिंतित: अगर किसी की ऐसी स्थिति कई हफ्तों तक बनी रहे तो ये डिप्रेशन का कारण हो सकता है. ये डिप्रेशन के शुरुआती लक्षण है.
  • खुद को असहाय, बेकार, या दोषी समझना: आप अपने जीवन के बारे में बहुत बुरा महसूस करने लगते है और हर वक़्त अपने नुकसान या विफलताओं के बारे में सोचते है तो ये डिप्रेशन के लक्षण है।
  • निराशाजनक: अगर आप निराशावादी हैं और आपको विश्वास है कि ज़िन्दगी में आपके साथ कुछ भी अच्छा नहीं होगा. अगर आपने कभी आत्महत्या के बारे में भी सोचा हैं.
  • चिड़चिड़ापन: आप सामान्य स्थिति में भी बहुत चिडचिडे रहते है तो ये भी डिप्रेशन का लक्षण हो सकता है.
  • किसी चीज़ में या काम में दिल न लगना: जिन कामो में आपको कभी बहुत रूचि थी अब उन कामो में आपका दिल नहीं लगता। आपको खाने में और यहाँ तक कि सेक्स में कोई रूचि नहीं रही तो ये डिप्रेशन के लक्षण हो सकते है.
  • कम ऊर्जावान: आप बेहद थका हुआ महसूस कर सकते हैं और बहुत धीरे-धीरे सोचते हैं। दिन के मामूली काम भी अब आपको बहुत मुश्किल लगने लगे है.
  • ध्यान लगाने में मुश्किल: अब आपको छोटे मोटे काम में भी ध्यान लगाने में बहुत मुश्किल होती है. मामूली चीज़े जैसे कि अख़बार पढना या सुबह जल्दी उठाना अब आपके लिए बहुत मुश्किल हो गया है. छोटी-छोटी चीज़े याद रखने में बहुत दिक्कत होने लगी है और कोई भी निर्णय लेने में बहुत टाइम लगाने लगे है तो ये यकीनन डिप्रेशन के लक्षण हो सकते है.
  • नींद में बदलाव: आपको या तो नींद जल्दी आने लगी है या देर रात तक नहीं आती. नींद में जैसा पहले होता था अब उससे बिलकुल विपरीत होने लगा है.
  • भूख में बदलाव: या तो आप ज्यादा खाने लगे है या बहुत कम. डिप्रेशन में अक्सर या तो वजन बहुत ज्यादा बढ़ जाता है या बहुत कम हो जाता है.

तो दोस्तों ये थे डिप्रेशन के लक्षण और यदि अगर आपको या आपके आसपास किसी को ऐसे लक्षण है तो उन्हें डॉक्टर के पास लेकर जाए. डिप्रेशन आसानी से ठीक हो सकता है लेकिन वक़्त पर इसका इलाज अगर न हो तो ये विकराल रूप भी ले सकता है.

डिप्रेशन के कारण

loading...