टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्च

IVF या टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्च कितना होता है, सरल शब्दों में जानिये

आजकल कई लोगों का ये सवाल रहता है कि IVF या टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्च कितना होता है. इस पोस्ट के ज़रिये हम आपके इस प्रश्न का पूरी तरह उत्तर देंगे ताकि आप IVF ट्रीटमेंट को हिंदी में समझ सके और इसमें होने वाले खर्चे के बारे में जान सके.

अक्सर ज़्यादातर लोग ये समझते है की टेस्ट ट्यूब बेबी प्रक्रिया काफी महंगा इलाज है और ये सिर्फ अमीर लोगों के लिए है. लेकिन आपको बता दे कि किसी ज़माने में ये महंगा ज़रूर था लेकिन आजकल तकरीबन हर कोई टेस्ट ट्यूब बेबी करवा सकता है. इसमें कोई शक नहीं कि वक़्त के साथ चिकित्सा उपचार काफी एडवांस हो गयी है और इसीलिए आजकल टेस्ट ट्यूब बेबी जैसे इलाज भी कम पैसो में होने लगे है.

टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्च कितना होता है?

टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्च अलग अलग क्लिनिक्स में अलग होता है लेकिन अगर हम औसतन बात करे तो 1 लाख से 1.5 लाख के बीच में आप इसका खर्च मान सकते है. अब थोडा टेस्ट ट्यूब बेबी के खर्च के बारे में हम विस्तार से बात करते है.

पढ़िए गर्भावस्था के दौरान सावधानियां

टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्च तीन भागो में बंटा होता है – डॉक्टर की फीस, लैब का खर्च और दवाईयों का खर्चा.

  • डॉक्टर की फीस लगभग Rs 20,000 से Rs 25,000 तक होती है. इस फीस में डॉक्टर आपको टेस्ट ट्यूब की पूरी प्रक्रिया के बारे में समझाता है और इस फीस में कई तरह के टेस्ट भी शामिल होते है जो कि टेस्ट ट्यूब बेबी से पहले ज़रूरी होते है.
  • लैब के खर्च में कई तरह की चीज़े शामिल होती है जैसे कि ICSI disposables, Pickup Needles, Tubes, Culture Gases, admission fee आदि. लैब का खर्चा लगभग Rs 50,000 से Rs 70,000 तक हो सकता है. जैसा कि हमने पहले बताया ये खर्चा हर अलग क्लिनिक में अलग ही होगा.
  • फिर उसके बाद आता है दवाइयों का खर्चा. टेस्ट ट्यूब बेबी की प्रक्रिया में कई तरह की दवाईया और टीके (Injection) औरत को लगते है और ये दवाई और इंजेक्शन काफी महंगे होते है. औरत को 10 दिन तक लगातार 10 इंजेक्शन लगते है. जो भारतीय निर्मित इंजेक्शन है उसकी कीमत लगभग Rs 2500 से Rs 4000 प्रति एक इंजेक्शन तक होती है और जो विदेशी इंजेक्शन है उनकी कीमत लगभग Rs 8000 प्रति इंजेक्शन होती है. ज़्यादातर डॉक्टर विदेशी इंजेक्शन लगवाने के लिए ही बोलते है क्यूंकि इससे टेस्ट ट्यूब बेबी की success rate ज्यादा होती है. इसका सीधा मतलब है कि दवाईयों और इंजेक्शन का कुल खर्चा लगभग Rs 40,000 से Rs 90,000 के बीच में होता है.

निष्कर्ष

इसका निष्कर्ष ये है कि टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्च सवा लाख से 2 लाख के बीच में हो सकता है. दोस्तों आपको बता दे कि आजकल IVF या टेस्ट ट्यूब का success rate काफी अच्छा है और अगर किसी का बच्चा नहीं हो रहा तो ये बहुत बढ़िया option है बच्चे को पाने के लिए. आजकल लाखो लोग बच्चा ना होने की वजह से परेशान है और उनके लिए टेस्ट ट्यूब बेबी का रास्ता सबसे आसान और असरदार है.

ये विडियो भी देखें:

डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए

What is PCOS in Hindi – जाने अंडाशय की इस बीमारी के बारे में सब कुछ

loading...