हर बड़े रोग का इलाज है ये पौधा, आसानी से मिलता है, बथुआ के फायदे है हजारो !

भारत एक ऐसा देश है जहाँ कोने-कोने में रहस्यों के भण्डार है. इस देश में कई तरह की ऐसी जड़ी बूटी और पेड़ पौधे है जो कई तरह के रोगों का विनाश करने में सक्षम है. हम बात कर रहे है बथुए की या कई लोग इसे बाथू भी कहते है. आपको ये जान कर हैरानी होगी कि बथुए का इस्तेमाल कई तरह के रोगों के इलाज के लिए किया जाता है. इसमें आयरन, कैल्शियम, पोटैशियम के इलावा कई अन्य पोषक तत्व मोजूद है जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है.

                                                                           बथुआ का पौधा

तो आईये जानते है क्या है बथुआ के फायदे और कैसे इस्तेमाल करे इसे:

पेट के रोगों में बथुआ है बहुत लाभकारी: अगर आप बथुआ की सब्जी कम से कम 2 बार हफ्ते में खाते है तो आपको पेट के रोगों में बहुत लाभ मिलेगा. गैस, कब्ज़, पथरी, बवासीर, पेट के कीड़े और ना जाने कितने पेट के रोगों का उपचार करता है ये बथुआ. इस पौधे को उबाल कर उसका पानी पीने से बहुत फायदा पहुँचता है.

जोड़ो का दर्द: अगर कोई जोड़ो के दर्द से परशान है तो बथुआ के पौधे से करीब 10 ग्राम बीज लेने है और उन्हें 200 मिलीलीटर पानी में उबाले. जब केवल 50 मिलीलीटर पानी बचे तो उसे पी ले. याद रखे कि पानी को ठंडा होने से पहले ही पीना है यानी जब वह गुनगुना हो जाए तब पी ले. अगर आप ऐसा एक महीने तक करते है तो इससे जोड़ो के दर्द में बहुत आराम मिलेगा. इसके इलावा अगर आप बथुआ की ताज़ा पत्तियों को पीसकर थोडा गर्म करके दर्द वाली जगह पर लगाये तो भी बहुत आराम मिलता है.

पथरी के लिए बथुआ: एक गिलास कच्चे बथुआ के रस में थोड़ी शक्कर मिलकर कुछ दिन पियेंगे तो बहुत जल्द पथरी निकल जायेगी.

कब्ज़ के लिए बथुआ: पेट को साफ़ करने के साथ पुरानी से पुरानी कब्ज़ को बथुआ से ठीक किया जा सकता है. बथुए का साग कब्ज़ के लिए बहुत फायदेमंद है. अगर आपको बहुत पुराणी कब्ज़ है या फिर बवासीर है तो हफ्ते में 4 बार बथुए का साग ज़रूर खाए. इससे शौच आसानी से आ जाएगी.

आँखों के लिए बथुआ: अगर किसी को आँखों में सोजन रहती है तो बथुए का साग कुछ दिन तक रोजाना खाए, इससे आपको ज़रूर फायदा पहुंचेगा.

स्वस्थ हृदय के लिए बथुआ ज़रूर खाए: अगर किसी को हाई ब्लड प्रेशर या नार्मल से ज्यादा रक्त चाप की शिकायत है उन्हें दिन में बथुआ से बना रायता ज़रूर खाना चाहिए. इसके इलावा अगर लाल रंग की बथुआ की पत्तियों का रस निकाल कर उसमे थोडा सेंध नमक मिलकर पिए तो इससे हृदय से जुडी कई परेशानियाँ दूर होती है. बथुआ का रायता घबराहट के लिए भी उत्तम है.

वजन कम करने के लिए बथुआ की सब्जी: अगर कोई अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहा है तो उसे बथुआ की सब्जी ज़रूर खानी चाहिए. इससे पेट की चर्बी कम होती है और पेट साफ़ रहता है.

loading...